google.com, pub-5665722994956203, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

करोना काल में शादी और पार्टियां | Weddings and parties in the Corona period

Updated: Aug 31, 2021



भारत विभिन्न संस्कृति और संप्रदायों का देश है। यदि दिवाली की बात की जाए तो दिवाली की शुरूआत गणेश चतुर्थी से ही हो जाती है, उसके बाद पितृ पक्ष, पितृ पक्ष के बाद नवरात्रे के आते ही दिवाली कब आ जाती है पता ही नहीं चलता। घर की साफ-सफाई, खरीददारी, पार्टी आदि में सोशल डिस्टेसिंग का ख्याल रखना बेहद आवश्यक है। आप सोचिये त्योहार हमारे घर-परिवार में खुशियां लेकर आतेे हैंं यदि हम करोना से बचने के लिए बनाये गये नियमों का पालन नहीं करेंगे तो दिवाली जैसे त्योहार पर कोरेटाइन होना, बहुत ही डरावना होगा।


 

मनुष्य एक सामाजिक प्राणी है। वह दुनिया जहान से काफी दिनों से दूर नहीं रह सकता। यदि कोशिश भी करे तो वह मानसिक तनाव में आ जाता है। लोगों से मिलना-जुलना, पार्टियां करना, उसे एक नई एनर्जी देता है। यदि भारत की बात की जाये तो भारत में ऐसा कर पाना नामुमकिन ही है। भारत में हर एक दिन कोई न कोई त्योहार होता है। भारत विभिन्न संस्कृति और संप्रदायों का देश है। यदि दिवाली की बात की जाए तो दिवाली की शुरूआत गणेश चतुर्थी से ही हो जाती है, उसके बाद पितृ पक्ष, पितृ पक्ष के बाद नवरात्रे के आते ही दिवाली कब आ जाती है पता ही नहीं चलता। घर की साफ-सफाई, खरीददारी, पार्टी आदि में सोशल डिस्टेसिंग का ख्याल रखना बेहद आवश्यक है। आप सोचिये त्योहार हमारे घर-परिवार में खुशियां लेकर आता है यदि हम करोना से बचने के लिए बनाये गये नियमों का पालन नहीं करेंगे तो दिवाली जैसे त्योहार पर कोरेटाइन होना, बहुत ही डरावना है। इसलिए इससे बचने के लिए कुछ टिप्स हम देने का प्रयास कर रहे हैं, आशा है आपके लिए लाभकारी होंगे।


https://www.merivrinda.com/post/do-not-let-children-get-bored-in-quarantine


त्योहारों पर मेहमानों के लिए नियमः

त्योहारों पर घर में मेहमानों का आना-जाना न हो, यह संभव ही नहीं है। हम स्वयं को तो रोक सकते हैं किन्तु मेहमान को आने से रोकना, शायद सही नहीं होगा। इसलिए स्वयं और परिवार की सुरक्षा के लिए कुछ नियमों का सख्ती से पालन करें।

दिवाली पर सभी मास्क अवश्य लगाकर रखें।

मेहमानों को भी मास्क लगाने के लिए कहें।

घर में प्रवेश से पहले मेहमानों को सेनेटाइज का प्रयोग करने को कहें।

उपहार लेने से पहले उन्हें सेनेटाइज करें और एक अलग जगह रखें, सभी उपहार एक ही जगह रखें।

उपहारों को आने के साथ ही न खोलें, बल्कि अगले दिन पूरी तरह दुबारा सेनेटाइज करें, फिर खोलें।

मेहमानों को खाने में ऐसी चीजें दें जिन्हें वह कम से कम स्पर्श किया गया हो। आप भी खाने की वस्तुओं को सीधे हाथों से न छूएं। चम्मच, कांटों या सर्विस स्पून का प्रयोग करें।

मेहमानों को कुछ भी खाने को बाध्य न करें। यदि आप किसी के घर जा रहे हैं तो आप भी उपरोक्त नियमों का पालन करें।


https://www.merivrinda.com/post/solution-of-covid-19-in-yoga-and-asanas


  • आप होस्ट हों या मेहमान, सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रखें। यदि पार्टी आर्गेनाइज कर रहे हैं तो खुली व हवादार जगह में पार्टी अरेंज करें।

  • खाने के सामान सीमित मात्र में ही परोसें, अगर जरूरत पडे़ तो दुबारा दें।

  • खाना खाते समय एक-दूसरे के सामने बैठकर बिल्कुल न खायें। अगर कोई जानकारी के अभाव में ऐसा कर भी रहा है तो उसे इस बात की जानकारी अवश्य दें।

  • अगर कमरे के अंदर पार्टी अरेंज कर रहे हैं तो बाहर से ताजी हवा के आने जाने की व्यवस्था करें। इससे संक्रमण का खतरा कम हो जायेगा। खिडकियां खुली रखें। यदि संभव हो तो एगजॉस्ट फैन चला कर रखें, जिससे अंदर की संक्रमित किचन हो या बाथरूम एगजॉस्ट फैन को अवश्य चला कर रखें। हवा तेजी से बाहर निकल सके।

  • अगर आप मेहमान हैं तो कोशिश करें कि बाथरूम का प्रयोग कम से कम या न ही करें।

https://www.merivrinda.com/post/yoga_and_asanas-_solution_of_covid-19

  • मेहमानों की संख्या कम रखें।

  • किसी से गले न मिलें।

  • हाथ न मिलायें।

  • शेयरिंग से बचें।

  • बुर्जुगों को और बच्चों को पार्टी आदि में न ले जायें।

  • अगर आप मेहजबान हैं तो पार्टी के फौरन बाद घर के सभी पर्दे, बैडशीट्स सोफों के कवर या तो सेनेटाइज करें या फिर बदल दें। घर के सभी सदस्य स्वयं को सेनेटाइज करें।

  • पार्टी में बचा हुआ खाने का सामान, घर के बाहर एक जगह रखें और अगले दिन सुबह कूड़े वाले को दें जिससे वह उसे उचित जगह पहुंचा दें। किसी गरीब या मजदूर आदि को खाने को बिल्कुल न दें।

  • सबसे बडी और खास सलाह की पार्टी में जो भी व्यक्ति पार्टी के नियमों को ठीक से फॉलो न करें, समझाने पर भी यह कहकर टाल दें कि कुछ नहीं होता तो आप स्वयं उससे दूरी बना लें।


https://www.merivrinda.com/post/how_to_protect_children_from_corona


करोना काल में फासला ही बचाव है।



 
 
google.com, pub-5665722994956203, DIRECT, f08c47fec0942fa0