google.com, pub-5665722994956203, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

वेलेनटाइन पर त्‍वचा में निखार लायें |This Valentine, get glowing skin.

g

त्‍वचा को स्‍वस्‍थ और निखरी हुई बनाने के लिए सर्वप्रथम हमें अपने खानपान पर ध्‍यान देना आवश्‍यक है। यदि हम अपनी त्‍वचा की देखभाल सही से नहीं करते तो अनेक प्रकार की परेशानि‍यों का सामना करना पड सकता है। चेहरे पर फाइन लाइन दिखना शुरू हो जाती हैं। त्‍वचा का प्राकृतिक निखार समाप्‍त हो जाता है। इसलिए सर्वप्रथम हमें प्र‍ति‍दिन पानी पर्याप्‍त मात्रा में पीना चाहिए। आमतौर पर शरीर में पानी की कमी को हम बहुत ही हल्‍के में लेते हैं। प्रतिदिन पर्याप्‍त पानी न पीने से निम्‍न शरीर में पानी की कमी होने से त्‍वचा रूखी और बेजान बनाती है। चेहरे पर फाइन लाइनें नजर आने लगती हैं।त्‍वचा में निखार लाने के लिए हमें अपने भोजन में प्रोटीन, फाइबर, हेल्‍दी ऑयल, मौसमी फलों और सब्जियों का सेवन करना चाहिए।

 

आज के समय में ही नहीं, सदियों से महिलाएं अपनी त्‍वचा को कोमल और जवां बनाने का प्रयास करती रही हैं। किन्‍तु आधुनिक समय में ऐसा कर पाना थोडा मुश्किल सा है। कामकाज का बोझ, प्रदूषण खानपान के प्रति लापरवाही और कैमिकल युक्‍त कॉस्‍मेटिक्‍स हमारी त्वचा को हानि पहुंचाते हैं।



त्‍वचा को स्‍वस्‍थ और निखरी हुई बनाने के लिए सर्वप्रथम हमें अपने खानपान पर ध्‍यान देना आवश्‍यक है। यदि हम अपनी त्‍वचा की देखभाल सही से नहीं करते तो अनेक प्रकार की परेशानि‍यों का सामना करना पड सकता है। चेहरे पर फाइन लाइन दिखना शुरू हो जाती हैं। त्‍वचा का प्राकृतिक निखार समाप्‍त हो जाता है। इसलिए सर्वप्रथम हमें प्र‍ति‍दिन पानी पर्याप्‍त मात्रा में पीना चाहिए। आमतौर पर शरीर में पानी की कमी को हम बहुत ही हल्‍के में लेते हैं। प्रतिदिन पर्याप्‍त पानी न पीने से निम्‍न शरीर में पानी की कमी होने से त्‍वचा रूखी और बेजान बनाती है। चेहरे पर फाइन लाइनें नजर आने लगती हैं। शरीर में पानी की कमी होने से आंखों के नीचे डार्क सर्किल नजर आने लगते हैं।

https://www.merivrinda.com/post/sardiyon-mein-skin-problam-aur-ghareloo-upaay


इसलिए दैनिक आवश्‍यकता के अनुसार सभी को पर्याप्‍त पानी पीना चाहिए।

त्‍वचा में निखार लाने और स्‍वस्‍थ त्‍वचा पाने के लिए हमें अपने भोजन में प्रोटीन, फाइबर, हेल्‍दी ऑयल, मौसमी फलों और सब्जियों का सेवन करना चाहिए। इसके अलावा एंटी-इफ्लेमेट्री और एंटी-ऑक्‍सीडेंट्स से भरपूर तत्‍वों का सेवन, मेटाबोलिज्‍म को मजबूत करता है जो त्‍वचा को वातावरण में विद्ममान हानिकारक तत्‍वों से बचाता है।



हमें अपनी त्‍वचा पर कॉस्‍मेटिक्‍स के प्रयोग से बचना चाहिए। कैमिकल युक्‍त कॉस्‍मेटिक्‍स के स्‍थान पर हमें प्राकृतिक चीजों का प्रयोग ही त्‍वचा पर करना चाहिए।

https://www.merivrinda.com/post/30-varsh-ke-baad-bhee-dikhen-javaan


विटामिन सी युक्‍त फल और सब्जियां

नींबू स्किन के लिए एक चमत्कारी दवा की तरह काम करता हैं। रंग निखारने के लिए नींबू का रस चेहरे पर लगाएं। कुछ देर बाद चेहरा धो लें। नींबू के रस में टमाटर का रस मिलाकर लगाने से भी त्वचा की सफाई हो जाती है और रंग गोरा होने लगता है।

संतरे और अंगूर न सिर्फ स्‍वादिष्‍ट होते हैं बल्कि ये विटामिन सी के अच्‍छे स्रोत भी हैं। विटामिन सी, कोलेजन पैदा करने के लिए महत्‍वपूर्ण है। कुछ फल और सब्जियों से हमें एंटी-ऑक्‍सीडेंट मिलते हैं जो कोलेजन को नुकसान पहुंचाने से बचाते हैं।


https://www.merivrinda.com/post/make-the-eyebrows-dense


प्रोटीन युक्‍त भोजन से शरीर में कोलेजन का निर्माण होता है जो त्‍वचा को मजबूती देते हैं इसलिए हमें अपने भोजन में फिश, लीन मीट और अंडे शामिल करें। प्रोटीनयुक्‍त भोजन से हमें एमिनो एसिड मिलते हैं।

हेल्‍दी फैट युक्‍त भोजन से सैलमन, मैकेरल, सार्डाइन और ट्राउट में शरीर की त्‍वचा के लिए लाभदायक वसा मौजूद होता है, जो त्‍वचा को हाइड्रेशन प्रदान कार उसे कोमल बनाता है। हेल्‍दी ऑयल्‍स त्‍वचा को भीतर से नमी प्रदान कर‍ते हैं जिससे कोशिकाएं स्‍वस्‍थ रहती हैं। इसलिए हमें अपने भोजन में हेल्‍दी ऑयल को शामिल करना चाहिए।

सूखे मेवे

सूखे मेवों में भी हेल्‍दी ऑयल प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। त्‍वचा के लिए अखरोट, बादाम, हेजलनट, बादाम, चिया और फ्लैक्‍सीड का सेवन करना चाहिए। सूखे मेवे, विटामिन ई का मुख्‍य स्रोत हैं। विटामिन ई हमारी त्‍वचा को पराबैंगनी (यूवी किरणें) किरणों के दुष्‍प्रभाव से बचाती हैं। सूखे मेवों में जिंक भी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है जो त्‍वचा में झुर्रियों को रोकता है।



हमें अपने भोजन में सतरंगी फलों और सब्जिायों को शामिल करना चाहिए। साथ ही सप्‍ताह में एक बार स्‍क्रबिंग, क्‍लीजिंग अवश्‍य करना चाहिए।

स्‍क्रबिंग के लिए चोकर, मोटा बेसन आदि का प्रयोग करना चाहिए।


https://www.merivrinda.com/post/taking-care-of-your-skin


फेस स्‍टीमिंग अवश्‍य करनी चाहिए। फेस स्‍टीमिंग जादू की तरह कार्य करती है। यह त्‍वचा की मृत कोशिकाएं हटा देती है, त्‍वचा की अंदरूनी परत तक हीटिंग देकर ब्‍लड सर्कुलेशन को बढाने का कार्य करती है। साथ ही त्‍वचा के पोर्स को क्‍लीन करती है। डीप क्‍लीनिंग से चेहरे से ब्‍लैकहेड्स हट जाते हैं। स्‍टीमिंग से चेहरे पर ग्‍लो आता है। इसे चेहरे का रक्‍त प्रवाह, बेहतर होता है। रोम छिद्र खुलने से चेहरे में ऑक्‍सीजन का स्‍तर बढ जाता है। हमारे चेहरे की त्‍वचा खुलकर सांस ले पाती है। स्‍टीमिंग के बाद आप टोनर के रूप में गुलाबजल का प्रयोग करें। इसके बाद त्‍वचा पर सीरम या मॉइश्‍चराइजर अवश्‍य लगायें।



 
 
google.com, pub-5665722994956203, DIRECT, f08c47fec0942fa0