google.com, pub-5665722994956203, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

रसगुल्‍ला रेसिपी | Rasgulla Recipe

Updated: Oct 13, 2022




दीपावली आते ही मिठाइयों का मौसम शुरू हो जाता है। कोई कितना भी बचने की कोशिश करे किन्‍तु कभी न कभी तो मिठाई खाने ही पडती है। ऐसी बात नहीं कि मिठाई खाना पसंद नहीं, बल्कि मिलावट के इस जमाने में मिठाई खाने से परहेज करना ही पडता है। किन्‍तु यदि दीपावली पर मिठाई घर पर ही बना ली जाये तो साफ-सफाई के साथ-साथ स्‍वास्‍थ्‍य को लेकर भी चिंता दूर हो जाती है।

.........................

https://www.merivrinda.com/post/balushahi-recipe


सामग्री

छेना बनाने लिए

  • 1 लीटर गाय का दूध (पैकेट में भी उपलब्ध)

  • 2 बड़े चम्मच सफेद सिरका

  • एक बड़ी छलनी पर फैला हुआ मलमल का कपड़ा


चाशनी बनाने के लिए

  • 3 कप चीनी,

  • 1½ कप पानी

  • 1 रीठा टुकड़ों में टूटा हुआ - आधा कप पानी में भिगो दें

  • रसगुल्ला को ब्लीच करने के लिए एक चुटकी कास्टिक सोडा, NaHSO3 वैकल्पिक

  • 1/8 कप दूध और 1/8 कप पानी एक साथ मिला लें

  • 2-3 बूंद केवड़ा एसेंस


https://www.merivrinda.com/post/balushahi-recipe


विधि

  • छैना बनाने के लिए एक भारी गहरे पैन में दूध उबाल लें. गैस बंद कर दें। तापमान कम करनेके लिए 2 मिनट तक हिलाएं।

  • छैना छानने के लिए छलनी में एक मलमल का कपडा बिछायें। छलनी को एक गहरे पैन के ऊपर रखें।

  • गर्म दूध में धीरे-धीरे 2 टेबल स्पून सिरका डालें और बहुत धीरे से चलाएं ताकि छेना बिखर न जाए। कुछ समय बाद दूध फट जाएगा और मट्ठा अलग हो जाएगा। यदि आवश्यक हो तो आप थोड़ा सिरका और डालें।

  • एक बार छैना हो जाने के बाद, तुरंत 1 लीटर ठंडा पानी, छैने में और डालें जिससे छैने का तापमान कम हो जाये।



  • छेना को मलमल के कपड़े से ढकी हुई छलनी से छान लें और गहरे पैन के ऊपर रख दें।

  • छैना को छानते के बाद छैने पर ठंडा पानी और डाल दें। छैना छानने के बाद छलनी को किसी गहरे पैन पर रख दें, जिससे छैने को अतिरिक्‍त पानी निकल जाये।

https://www.merivrinda.com/post/balushahi-recipe


  • छैने को पूरी तरह से ठंडा न होने दें। छैने को पूरी तरह से ठंडा हो जाने पर मलमल के कपडे सहित छैने को निचोड कर अतिरक्ति पानी निकाल दें।

  • छैने को छलनी से किसी प्‍लेट में निकाल लें जिससे छैने को मसला जा सके। 1 लीटर दूध से आपको 180-200 ग्राम छेना मिल जाएगा। छैने को हथेली की मदद से मुलायम डो बना लें। तैयार छैने से बराबर आकार की गोलियां बना लें।

  • बीच चाशनी बना लें। लगभग 12 X 5 इंच की एक बड़ी, गहरी कढ़ाई लें। अगर कढ़ाई बड़ी और गहरी नहीं है, तो चाशनी उबल जाती है क्योंकि रसगुल्ले में उबाल आने पर चाशनी कडाई से बाहर आ जाएगी।


  • कढ़ाई में चीनी और पानी डालिये और चीनी घुलने और चाशनी में उबाल आने तक पका लीजिये. तेज आंच पर 2-3 मिनट तक चाशनी तक उबालें।

  • चाशनी को चिपचिपी हो जाने दें।

  • 8. चाशनी में पानी मिला हुआ दूध डालिये और बिना हिलाये उबालने दीजिये और मध्यम आंच पर 2-3 मिनट के लिए उबलने दें, कुछ देर उबलने पर झाग आना बंद हो जायेगा, और चीनी की गंदगी अलग हो जायेगी।

https://www.merivrinda.com/post/coconut-semolina-flavored-ladoos


  • चाय की छलनी का उपयोग करके गंदगी की ग्रे परत को हटा दें। तैयार चाशनी को एक तरफ रख दें।

  • छैना को 3-4 मिनट के लिए मसल लें, जब तक कि यह आपकी हथेली से समतल सतह पर लगभग चिकना न हो जाए।

  • इसे ज़्यादा न करें, इससे घी निकल जाएगा। 10 चिकने बॉल्स बना लें।

  • साफ की हुई चाशनी को वापस तेज आंच पर रख दें। यदि उपलब्ध हो तो सोडियम हाइड्रोसल्फाइट मिलाएं

  • जो रसगुल्लों को और सफेद कर देता है। चाशनी में अच्छे से उबाल आने दें।

  • 2-3 टेबल स्पून रीठा पानी और फिर से उबाल लें जिससे उबलते हुए चाशनी में बहुत झाग आ जाए।

  • सभी छेना बॉल्स को झागदार चाशनी में डाल दें। तेज आंच पर इन्हें उबलने दें

  • 4-5 मिनट चाशनी को उबालते समय, अगर झाग ज्यादा लगता है, तो एक चम्‍मच । घुमाते रहें

  • चाशनी पर चम्मच से डालें ताकि रसगुल्ले को तोड़े बिना चाशनी को नीचे की ओर धकेला जा सके।

https://www.merivrinda.com/post/make_atta_pinni_in_winter


  • 4-5 मिनट के बाद आप रसगुल्ले पलट सकते हैं. अब साइड से लगभग 1 कप पानी डाल कर रख दीजिये जिससे चाशनी गाढी न हो।

  • उबालने के बाद हर 2 मिनिट में पानी डालें और झाग को हल्का सा दबा दें। कप पानी

  • रसगुल्लों को पकाने का कुल समय लगभग 10-12 होता है।

  • यह बहुत जरूरी है कि चाशनी में लगातार झाग आना चाहिए, इसलिए कभी भी चाशनी को कम न करें।

  • एक बड़े प्याले में पानी ले लीजिए और रसगुल्‍लों के लिए दूसरी चाशनी बनायें और तैयार सारे रसगुल्ले चाशनी से निकाल कर नई चाशनी में डाल दीजिये

  • इन रसगुल्लों को ठंडा होने के लिए रख दें।

  • इसी बीच बची हुई चाशनी में 2 कप पानी डाल कर पतला कर लीजिये

  • अंतिम सिरप कभी भी मीठा नहीं होता है। अगर चाशनी गंदी लगती है, तो एक मलमल के माध्यम से एक साफ कटोरा छान लें। केवड़ा एसेंस डालें।

  • को चाशनी में लगभग 30 मिनट या उससे अधिक समय तक भीगने दें। सर्व करें।

https://www.merivrinda.com/post/traditional_recipe_for_making_gujiyas




Post: Blog2_Post
bottom of page
google.com, pub-5665722994956203, DIRECT, f08c47fec0942fa0